October 19, 2021

सर्वपितृ अमावस्या आज, पितरों की विदाई के लिए जानें सही समय, जरूर पढ़ें ये मंत्र, हर इच्छा होगी पूरी

New Delhi/Alive News : सर्वपितृ अमावस्या पर आज 11 साल बाद गज छाया योग बन रहा है. इस दिन कुछ विशेष उपाय करके पितरा ऋण, पितृ दोष से मुक्ति पाई जा सकती है. ज्योतिर्विद ने बताया कि अश्विन कृष्ण अमावस्या पर सर्वपितृ श्राद्ध मनाए जाने का विधान है. हर एक के लिए श्राद्ध निहित है. अमावस्या एक अहम काल होता है, जिसमें पितृगणों के लिए श्राद्ध, तर्पण व पिंडदान किया जाता है. इसे पितृ विसर्जनी, सर्वपितृ अमावस्या या महालय विसर्जन भी कहते हैं.

ये काम न करें
ज्योतिर्विद कमलनंद लाल ने बताया कि सर्वपितृ अमावस्या पितरों को विदा करने का अंतिम दिन है. 16 दिन तक पितृगण घर में विराजते हैं और हम उनकी सेवा करते हैं. सर्वपितृ अमावस्या के दिन सभी भूले बिछड़े पितरों का श्राद्ध करके उनसे आशीर्वाद की कामना करते हैं. उन्होंने बताया कि पूर्ण संज्ञक अमावस्या तिथि के स्वामी पितृगण हैं, इस दिन मदिरापान करना वर्जित माना गया है.

मनोकामना पूर्ति के लिए करें ये उपाय
ज्योतिर्विद कमलनंद लाल ने बताया कि पितृ अमावस्या पर भगवान विष्णु के हंस स्वरूप की पूजा का विधान है और गीता के शोडष अध्याय का पाठ किया जाता है. शास्त्रों के अनुसार सर्वपितृ अमावस्या के दिन श्राद्ध, तर्पण करने से हर मनोकामना पूरी होती है.

इस तरह बनता है गजछाया योग
पितृपक्ष के दौरान जब भी गजछाया योग बनता है, तो इसे श्राद्ध और अनुष्ठान में दान करने के लिए सर्वश्रेष्ठ माना जाता है. ज्योतिर्विद ने बताया कि सूर्य साल में एक बार हस्त नक्षत्र में गोचर करता है. और अधिकतर पितृपक्ष के दौरान गोचर करता है. जब सूर्य व चंद्रमा दोनों हस्त नक्षत्र में आ जाएं और अमावस्या ​की तिथि पड़ जाए, तो ये गजछाया योग बनता है.

शुभ समय व उपाय
आज श्राद्ध, तर्पण के लिए शुभ समय दोपहर 1 बजकर 19 मिनट से 3 बजकर 40 मिनट तक रहेगा. इस समय में भगवान विष्णु के हंस अवतार के चित्र पर नवधान चढ़ाएं और नवधान का चढ़ावा पितरों को चढ़ाकर पक्षियों को डाल दें. इससे सर्व मनोकामना पूर्ण होती है और पारिवारिक जीवन में सुख समृद्धि, धन वैभव आता है. इस दौरान विष्णु जी के एक विशेष मंत्र का जाप भी करें.

ये है मंत्र
ऊं परमहंसाय विद्महे महाहंसाय धीमहि, तन्नो हंस: प्रचोदयात्!!

Related articles

कोरोना के चलते अमरनाथ यात्रा रद्द, ऑनलाइन दर्शन कर सकेंगे श्रद्धालु

New Delhi/Alive News : बाबा बर्फानी के दर्शन की चाह लिए अमरनाथ यात्रा शुरू होने का इंतजार कर रहे श्रद्धालुओं को इसके लिए अब अगले साल तक इंतजार करना पड़ेगा. कोरोना वायरस से संक्रमण के साए में जम्मू कश्मीर प्रशासन ने इस साल अमरनाथ यात्रा रद्द करने का फैसला किया है. इसका ऐलान उपराज्यपाल मनोज […]

आज है स्कंद षष्ठी, जानें व्रत का महत्व और पूजन विधि

स्कंद षष्ठी का दिन भगवान कार्तिकेय को समर्पित है। आज के दिन भगवान कार्तिकेय की पूजा- अर्चना की जाती है। स्कंद षष्ठी व्रत मुख्य रूप से दक्षिण भारत के राज्यों में लोकप्रिय है। भगवान कार्तिकेय भगवान शिव और माता पार्वती के पहली संतान होने के साथ जयेष्ठ पुत्र हैं। भगवान कार्तिकेय को स्कंद भी कहा […]