May 16, 2022

घर में इस जगह रखें झाड़ू, दूर होगी दरिद्रता

सफाई के लिए झाड़ू का इस्तेमाल तो हर घर या फिर ऑफिस में किया जाता है। वास्तु के अनुसार, झाड़ू को मां लक्ष्मी का प्रतीक माना जाता है। झाड़ू का इस्तेमाल करके घर की दरिद्रता को हटाया जाता है। इसलिए इसका बहुत अधिक महत्व है। वास्तु के अनुसार, झाड़ू से संबंधित भी कुछ नियम है जिनका पालन करना बेहद जरूरी माना जाता है। जानिए झाड़ू रखने की सही दिशा के साथ कुछ नियम।

झाड़ू को इस दिशा में न रखें
वास्तु के मुताबिक झाड़ू भी रखने की सही दिशा होती है। झाड़ू को कभी भी उत्तर-पूर्व यानी ईशान कोण में नहीं रखना चाहिए। क्योंकि इसे देवी-देवताओं की दिशा मानी जाती है। इसलिए इस दिशा में रखने से भगवान का आगमन नहीं होता है।

वास्तु के मुताबिक, झाड़ू को किचन में भी नहीं रखना चाहिए। अन्न की कमी होने लगती है। इसलिए खुशहाल जीवन के लिए किचन में कभी भी झाड़ू नहीं रखनी चाहिए।

झाड़ू रखने की सही दिशा
घर में हमेशा झाड़ू को दक्षिण दिशा या फिर पश्चिम-दक्षिण दिशा में रखना शुभ माना जाता है। इससे घर में हमेशा खुशहाली बनी रहती है।

झाड़ू रखने का सही तरीका
वास्तु में झाड़ू रखने का भी सही तरीका बताया गया है। इसके अनुसार झाड़ू को हमेशा छिपाकर रखना चाहिए, जिससे हर किसी की नजरों पर न पड़े। इसके अलावा झाड़ू को हमेशा लिटा कर रखना चाहिए। माना जाता है कि खड़ी झाड़ू रखने से घर में दरिद्रता का वास हो जाता है।

ऐसी झाड़ू तुरंत फेंके
अगर आपके घर में टूटी या फिर खराब झाड़ू है तो इसे तुरंत हटा देना चाहिए। क्योंकि इससे सफाई करने से आपके घर में सिर्फ और सिर्फ परेशानियों का ही वास होगा।

इन बातों का भी रखें ध्यान
वास्तु के अनुसार, हमेशा झाड़ू का सम्मान करना चाहिए। कभी भी इससे पैर नहीं लगाना चाहिए। क्योंकि इसे मां लक्ष्मी का रूप माना जाता है। नई झाड़ू हमेशा शनिवार के ही दिन खरीदकर लानी चाहिए। वास्तु के अनुसार, सूर्यास्त होने के बाद झाड़ू नहीं लगानी चाहिए। क्योंकि इससे मां लक्ष्मी भी घर से चली जाती हैं।

नो़टः इस लेख में निहित किसी भी जानकारी की विश्वसनीयता की गारंटी नहीं है। विभिन्न माध्यमों से जानकारियां आप तक पहुंचाई गई हैं। हमारा उद्देश्य महज सूचना पहुंचाना है, इसके उपयोगकर्ता इसे महज सूचना समझकर ही लें।

Related articles

होली के दिन अपनाएं ये टिप्स सुरक्षित रहेगी आपकी त्वचा

New Delhi/Alive News: नैचुरल तरीके से बने रंगों का इस्तेमाल अब होली पर कम हो गया है। होली आने पर अब मार्केट केमिकल युक्त रंगों से भरे रहते हैं। भारतीय बाजारों में मौजूद सिंथेटिक कलर्स में किस स्तर तक टाक्सिक मौजूद है, इसका कोई अनुमान नहीं है। ऐसे में आम लोगों के लिए यह पता […]

चार धाम यात्रा के कपाट खुलते ही तीर्थयात्रियों की उमड़ी भीड़

New Delhi/Alive News : चारों धामों के कपाट खुलते ही दर्शन करने वाले तीर्थयात्रियों का नया रिकॉर्ड बन गया है। सात दिन के भीतर ही दो लाख से अधिक तीर्थयात्रियों ने केदारनाथ, बदरीनाथ, गंगोत्री और यमुनोत्री धाम में दर्शन किए हैं। जबकि यात्रा पर आने के लिए पंजीकरण का आंकड़ा 10 लाख के पार हो […]