January 28, 2022

साल के पहले मंगलवार के दिन करें ये उपाय, घर आएगी सुख और समृद्धि

मंगलवार का दिन हनुमान जी को समर्पित होता है। इस दिन हनुमान जी की पूजा-उपासना की जाती है। ऐसी मान्यता है कि सच्चे दिल से हनुमान जी की पूजा करने वाले व्यक्ति की सभी मनोरथ सिद्ध होते हैं। साथ ही काल, कष्ट, दुःख और दर्द दूर हो जाते हैं। इनका स्मरण मात्र से नकारात्मक शक्ति दूर भाग जाती है। ज्योतिषों की मानें तो मंगलवार के दिन हनुमान जी की पूजा करने से सूर्य मजबूत होता है। सूर्य के मजबूत होने से जातक को रोजगार और कारोबार में शीघ्र सफलता मिलती है।

रोजगार और कारोबार में कार्यरत जातक को उन्नति मिलती है। अतः मंगलवार के दिन विशेष तरीके से हनुमान जी की पूजा-आराधना की जाती है। अगर आप भी नव वर्ष में हनुमान जी की कृपा पाना चाहते हैं, तो पहले मंगलवार के दिन ये उपाय जरूर करें।

सुंदर कांड का पाठ करेंः मंगलवार के दिन हनुमान मंदिर जाकर हनुमान चालीसा और सुंदर कांड का पाठ करें। अगर कोरोना काल में आप मंदिर नहीं जाना चाहते हैं, तो घर पर ही मंगलवार हनुमान चालीसा का पाठ करें। अगर पर्याप्त समय है, तो सुन्दर कांड का भी पाठ करें। साथ ही विधिपूर्वक पूजा कर आरती-आर्चना अवश्य करें।

व्रतः हनुमान जी की कृपा पाने और सूर्य को मजबूत करने के वर्ष के पहले मंगलवार को व्रत जरूर रखें। इससे आपकी सभी सकारात्मक मनोकामना शीघ्र पूर्ण होगी।

मंदिर जानाः अगर आप वर्ष के पहले मंगलवार को हनुमान जी की पूजा हेतु मंदिर जाते हैं, तो हनुमान जी चरणों में अर्पित सिंदूर को अपने मस्तक पर जरूर लगाएं। साथ ही प्रसाद भेंटकर मंदिर परिसर में उपस्थित भक्तों के बीच बांट दें। आप जथा शक्ति तथा भक्ति के भाव से जरुरतमंदों और गरीबों को दान अवश्य भेंट करें। इससे आप पर हनुमान जी की कृपा अवश्य बरसेगी। साथ ही निम्न मंत्र का जाप करें।

नोटः ‘इस लेख में निहित किसी भी जानकारी की सटीकता या विश्वसनीयता की गारंटी नहीं है। विभिन्न माध्यमों से संग्रहित कर ये जानकारियां आप तक पहुंचाई गई हैं। हमारा उद्देश्य महज सूचना पहुंचाना है, इसके उपयोगकर्ता इसे महज सूचना समझकर ही लें। इसके अतिरिक्त, इसके किसी भी उपयोग की जिम्मेदारी स्वयं उपयोगकर्ता की होगी।

Related articles

पितृपक्ष में जरूर करें ये 5 काम, नहीं तो अधूरा माना जाएगा तर्पण

पितृपक्ष यानी श्राद्ध की शुरुआत हो चुकी है. इन दिनों पूर्वजों की आत्मा की शांति के लिए पूरे विधि-विधान से पूजा पाठ किया जाता है. पितृ दोष दूर करने के लिए भी श्राद्ध पक्ष को सबसे अच्छा समय माना जाता है. ऐसी मान्यता है कि पितृपक्ष में किए गए तर्पण से पूर्वजों का आशीर्वाद मिलता […]

आज सोम प्रदोष व्रत पर जानें, महत्व और पूजा विधि

सोम प्रदोष व्रत आज यानी 24 मई 2021, दिन सोमवार को है। सोमवार के दिन पड़ने वाले प्रदोष व्रत को सोम प्रदोष व्रत कहा जाता है। हिंदू पंचांग के अनुसार, 24 मई को वैशाख माह के शुक्ल पक्ष की त्रयोदशी को है। त्रयोदशी तिथि भगवान शंकर को समर्पित होती है। प्रदोष व्रत के दिन शिव […]