January 28, 2022

डिप्टी स्पीकर की गाड़ी पर पथराव का मामला: सात महिने बाद डीएसपी निलंबित, थाना प्रभारी पहले हो चुके हैं सस्पेंड

Chandigarh/Alive News: हरियाणा के सिरसा में हरियाणा विधानसभा के डिप्टी स्पीकर रणबीर गंगवा की गाड़ी पर पथराव मामले में सात माह बाद डीएसपी संजय सिंह को निलंबित कर दिया गया है। बहुचर्चित मामले में यह दूसरी कार्रवाई है। सुरक्षा में लापरवाही मानकर तत्कालीन थाना प्रभारी इंस्पेक्टर विक्रम सिंह को घटना के अगले दिन ही निलंबित कर दिया गया था। वहीं तत्कालीन एसपी भूपेंद्र सिंह का तबादला कर दिया गया था।

मामले में किसान नेता प्रहलाद सिंह भारूखेड़ा सहित 100 लोगों पर सरकार के खिलाफ बगावत करने, जानलेवा हमला करने, सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचाने की धाराओं में मामला दर्ज किया गया था। विगत 11 जुलाई को चौधरी देवीलाल यूनिवर्सिटी (सीडीएलयू) में बैठक में शामिल होने के बाद डिप्टी स्पीकर रणबीर गंगवा लौट रहे थे। सीडीएलयू के गेट से बाहर निकलते ही उनकी गाड़ी पर पथराव किया गया। पथराव में उनकी गाड़ी के शीशे टूट गए। किसानों ने सीडीएलयू के दोनों गेटों का घेराव किया।

इस दौरान एक गेट के ऊपर से भी सीडीएलयू में घुस गए थे। इसके बाद पुलिस ने उन्हें हिरासत में ले लिया। सरकार ने मामले को गंभीरता से लेते हुए हिसार रेंज के आईजी को मामले की जांच सौंपी। मामले में डीएसपी संजय कुमार व तत्कालीन थाना प्रभारी विक्रम सिंह के खिलाफ जांच शुरू की गई। मामले में आईजी ने सिविल लाइन थाना प्रभारी विक्रम सिंह को निलंबित कर दिया था। हालांकि जांच के बाद उन्हें बहाल कर दिया गया। वर्तमान में वह शहर थाना प्रभारी के रूप में कार्य कर रहे है। अब सात माह बाद डीएसपी संजय कुमार को निलंबित किया गया है। हालांकि किसानों पर दर्ज मुकदमों को भी वापस ले लिया गया है।

भाजपा नेताओं के खिलाफ किया जा रहा था प्रदर्शन
विगत 11 जुलाई को किसान संगठनों के प्रतिनिधि कृषि कानून रद्द करने की मांग को लेकर सिरसा बाईपास रोड पर चौधरी देवीलाल विश्वविद्यालय के मुख्य गेट के आगे विरोध प्रदर्शन कर रहे थे। विश्वविद्यालय परिसर में भाजपा नेताओं द्वारा बैठक की जा रही थी। बैठक के बाद भाजपा नेताओं के वाहनों का काफिला बाहर निकला तो किसानों ने उन्हें काले झंडे दिखाए और विरोध में नारेबाजी की।

इस दौरान किसी ने भाजपा नेताओं के वाहनों पर पत्थर फेंकने शुरू कर दिए। इनमें से कुछ पत्थर डिप्टी स्पीकर रणवीर गंगवा की गाड़ी के पिछले शीशे पर लगे और शीशा टूट गया। भाजपा नेताओं के वाहनों पर पत्थरबाजी का वीडियो भी इंटरनेट मीडिया पर वायरल हुआ था। गाड़ी पर हमला करने के आरोप में पुलिस ने पांच किसानों को गिरफ्तार किया था। उनकी रिहाई की मांग को लेकर अन्य किसानों ने बरनाला रोड पर महापड़ाव डाला दिया। इसमें संयुक्त किसान मोर्चा के नेता राकेश टिकैत व अन्य किसान नेता भी शामिल हुए थे।

Related articles

अब 5 दिसंबर तक भरे जा सकते है 10वीं और 12वीं के परीक्षा फार्म

Faridabad/Alive News : हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड ने सीनियर सेकेंडरी वार्षिक परीक्षा मार्च-2017 के लिए परीक्षार्थियों के लिए ऑनलाइन पंजीकरण की तिथियों में संशोधन किया है। बिना विलंब शुल्क के अब 5 दिसंबर तक फार्म भर सकते हैं। पहले यह तिथि 26 नवंबर थी। प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन तिथि में बढ़ोतरी की मांग कर रही थी। […]

किसानों को एक घंटे ज्यादा बिजली देने की तैयारी, 24 घंटे में बदला जाएगा खराब ट्रांसफार्मर

Chandigarh/Alive News: हरियाणा सरकार धान की रोपाई के संकट को देखते हुए किसानों को एक घंटा अधिक बिजली आपूर्ति की तैयारी कर रही है। तकनीकी तौर पर अध्ययन कर जल्द सकारात्मक निर्णय लिया जाएगा। आपको बता दे कि अभी किसानों को आठ घंटे ही बिजली मिल रही है। दरअसल, भाकियू हरियाणा के अध्यक्ष गुरनाम सिंह […]